शर्मनाक : भूख से मर गयी बीजेपी नेता की गौशाला में 150 गायें ..! जिला प्रशासन ने गांयों की मौत को लेकर बनायी जांच कमेटी

दो से तीन दिन में हुई गायों की मौत.. गांव में ही दफनाया गया
दुर्ग 17 अगस्त 2017। छत्तीसगढ़ में भूख की वजह से 150 गायों की मौत हो गयी है…! ये शर्मनाक घटना दुर्ग के धमधा ब्लाक की है.. जहां राजपुर गांव में एक गौशाला में 141 गायों ने पिछले दो से तीन दिनों के भीतर दम तोड़ दिया है। हैरानी की बात ये है कि इस गौशाला का संचालक खुद भाजपा का नेता है … जो खुद को गौ-सेवा की हिमायती…. बताता है…। सरकार की तरफ से भी गौसेवा के नाम पर कई सारी योजनाएं और आयोग चलती है.. लेकिन दुर्ग के गौशाला में जो कुछ हुआ.. वो बेहद शर्मनाक है। चौकाने वाली बात ये है कि गौशाला के बाहरी गेट पर संचालक ने बीजेपी का चुनाव चिन्ह कमल का बड़ा-बड़ा निशान बनवा रखा था।

 

साजा विधानसभा के युवा कांग्रेस अध्यक्ष शमशीर कुरैशी के मुताबिक गौशाला मौजूदा जामुल नगरपालिका का उपाध्यक्ष हरीश वर्मा का है। शमशीर के मुताबिक गायों की मौत की खबर को दबाने के लिए गौशाला संचालक ने गायों को गांव में दफना लिया.. लेकिन किसी को सूचना नहीं दी गयी। मिली जानकारी के मुताबिक संचालक हरीश वर्मा ने कहा है कि गायों की मौत भूख से नहीं बल्कि बीमारी और एक जगह पर दीवार गिरने की वजह से हुई है।गौशाला से मिले आंकड़ों के मुताबिक गौशाला में करीब 700 गायें थी.. जिनमें से अभी सिर्फ 559 गायें ही मौजूद हैं….जबकि 141 गायों की मौत हो चुकी है।

 

इधर आद एसडीएम भी मौके पर पहुंचे थे.. जिन्होंने पूरे मामले की जांच के लिए एक कमेटी का गठन भई किया है। कांग्रेस का दावा है कि मौत भूख से हुई है.. लिहाजा मृत गायों का पोस्टमार्टम कराया जायेगा…ताकि ये पता चले कि वाकई में इसके पीछे की वजह क्या भूख है या फिर दूसरी बीमारी।
कांग्रेस प्रवक्ता आरपी सिंह के मुताबिक बीजेपी का असली चेहरा यही है…जिनके लिए गाय सिर्फ एक वोट बैंक का माध्यम है। आरपी सिंह ने इस मामले में राज्य सरकार से तत्काल कार्रवाई की मांग की है। कांग्रेस की तरफ से आज इस मामले में कलेक्टर को ज्ञापन सौंपकर पूरे मामले की जांच की भी मांग की गयी है।
[9:41 AM, 8/19/2017] Nahida: धमधा गौशाला संचालक बीजेपी नेता को बचा रही सरकार-कांग्रेस का आरोपPosted in हमार छ्त्तीसगढ़ By News Desk On August 19, 2017
FacebookTwitterGoogle+WhatsApp
Share3
Tweet
congress- panjaरायपुर। कांग्रेस ने कहा है कि छत्तीसगढ़ की गौशालाओं में लगातार गायों की मौत हो रही है और राज्य की भाजपा सरकार महज खानापूर्ति में जुटी हुई है। प्रदेश कांग्रेस के मीडिया चेयरमैन ज्ञानेश शर्मा ने कहा है कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह यह कहते हुए राष्ट्रीय स्तर पर सुर्खियां तो बटोर लेते हैं कि छत्तीसगढ़ में गौहत्यारों को फांसी पर लटका देंगे, लेकिन जब कार्रवाई करने की बारी आती है तो मुख्यमंत्री महज जांच की बयानबाजी पर उतर आते हैं।

उन्होंने कहा कि दुर्ग जिले के धमधा में करीब 250 गायों की मौत, इससे पहले जुलाई में ही रायगढ़ जिले में स्थित चक्रधर गौशाला में 15 गायों की मौत और उससे भी पूर्व दुर्गुकोंदल के कर्रामाड़ में स्थित गौशाला में अगस्त 2016 में करीब 150 गायों की मौत, इन सब मामलों को देखकर साफ जाहिर होता है कि गौमाता को लेकर भाजपा सरकारों की कथनी और करनी में फर्क है।

भाजपा के लिए गौमाता महज एक मुद्दा है जिसे लेकर वह जनता की भावनाओं से खेलती आई है। शर्मा ने आगे कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने इसी वर्ष गौहत्यारों को फांसी पर लटका देंगे कहते हुए राष्ट्रीय स्तर पर सुर्खियां जरुर बटोर ली थी, लेकिन कर्रामाड़ गौशाला के दोषियों को क्या फांसी पर लटकाया गया, या चक्रधर गौशाला के आरोपियों अथवा धमधा गौशाला के दोषी को फांसी पर लटकाया जाएगा। यह बात मुख्यमंत्री को बताना चाहिए, लेकिन वे तो महज नए सिरे से सभी गौशालाओं के जांच के आदेश देने में व्यस्त हैं। साफ जाहिर है कि धमधा गौशाला का संचालक चूंकि भाजपा नेता है, इसलिए उसे बचाने ऐसा आदेश दिया गया है।

राज्य के अधिकांश गौशाला संचालक किसी न किसी मंत्री के करीबी हैं, इसलिए उन पर सीधे कार्रवाई करने के निर्देश कभी नहीं दिए जाते, भाजपा की रमन सरकार को यहां गौमाता से ज्यादा जरुरी ऐसे गौसंचालक भाजपा नेता लगते हैं। इसलिए उन पर महज दिखावे के लिए कार्रवाई की जाती है और मुख्यमंत्री महज सुर्खियां बटोरने के लिए फांसी पर लटका देंगे जैसा बयान देते हैं।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री महज जुबानी जमा खर्च करने में माहिर हैं, कहे हुए पर अमल करने में नहीं, यही छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की पहचान बन चुकी है। चाहे वह भ्रष्टाचार पर नो टालरेंस की नीति हो, किसानों को धान-बोनस देने की बात हो या फिर गौशालाओं में गायों की मौत के दोषियों पर कार्रवाई की बात हो।

शर्मा ने कहा कि कांग्रेस गौमाता के साथ, जनता की भावनाओं के साथ ऐसा खिलवाड़ नहीं होने देगी, इसका सड़क पर उतर कर विरोध करेगी और जनता के साथ कदम से कदम मिलाते हुए ऐसे दोषियों पर कार्रवाई कर के ही रहेगी।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *