नॉर्थ कोरिया: किम जोंग उन के बेस में बनी न्‍यूक्लियर साइट भूमिगत सुरंगनॉर्थ कोरिया: किम जोंग उन के बेस में बनी न्‍यूक्लियर साइट Underground Tunnel गिरी, 200 की मौत गिरी, 200 की मौत

Breaking News Headline News News

नॉर्थ कोरिया: किम जोंग उन के बेस में बनी न्‍यूक्लियर साइट भूमीगत सुरंग गिरी, 200 की मौत

नई दिल्ली। उत्तर कोरिया के परमाणु परीक्षण स्थल के पास एक सुरंग ढहने से कम से कम 200 लोगों की मौत हो गई है। यह सुरंग उस परमाणु स्थल के पास बनाई जा रही थी जहां बीते दिनों उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन ने कई परमाणु परीक्षणों को संपन्न कराया था। खास बात यह है कि इस हादसे की वजह भी परमाणु परीक्षणों को ही बताया जा रहा है।

कैसे हुआ हादसा

एक उत्तर कोरियाई अधिकारी के हवाले से जानकारी देते हुए वहां कि समाचार एजेंसी ने बताया कि10 अक्टूबर को पकयुगं परमाणु परीक्षण स्थल में बन रही एक निर्माणाधीन अंडरग्राउंड सुरंग स्थल ढह गई। समाचार एजेंसी ने आगे बताया कि सुरंग ढहने से करीब 100 लोग फंस गए थे जिसके बाद राहत कार्य शुरू किए गए थे। लेकिन राहत कार्य के दौरान सुरंग एक बार फिर भरभराकर गिर गई। दोबारा हुए इस हादसे के चलते 200 लोगों के मरने की बात कही जा रही है।

हादसे की यह थी असली वजह

असाही टीवी की रिपोर्ट के मुताबिक 3 मार्च को यहां पर किम जोगं ने छठा परमाणु परीक्षण किया था। यह परमाणु परीक्षण इतना शक्तिशाली था कि यहां कि धरती में दरारें आ गई जिससे यह काफी कमजोर हो गई थी। किम जोंग ने बिना इसकी परवाह किए हुए ही यहां एक अंडरग्राउंड सुरंग बनाने का आदेश दिया। धरती पहले से ही कमजोर थी और सुरंग के लिए हुए खनन ने उसे और कमजोर बना दिया। जिसका नतीजा 200 कोरियाई उत्तर कोरियाई नागरिकों की मौत के रूप में सामने आया।

किम जोंग ने फिर दी धमकी

इस हादसे के बावजूद किम जोंग के रवैये में कोई परिवर्तन नहीं आया है। किम जोंग ने बीते हफ्ते ही अमेरिका को फिर से धमकी देते हुए किम जोंग उन के टॉप डिप्लोमेट ने प्रशांत महासागर में अपने नए हाइड्रोजन बम टेस्ट करने की घोषणा की है। नॉर्थ कोरिया 2006 से लेकर अब तक छह हाइड्रोजन बम का टेस्ट कर चुका है और 7वें टेस्ट करने की तैयारी में है। नॉर्थ कोरिया ने स्पष्ट रूप से कह दिया है कि वे हमारे न्यूक्लियर टेस्ट की धमकी को हल्के में ना ले। नॉर्थ कोरिया ने कहा है कि वे जल्द ही हाइड्रोजन बम का टेस्ट करने वाले हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *