उत्तर कोरिया ऐसी मिसाइलें विकसित कर रहा है जो संसार में कहीं भी मार करने में सक्षम होंगी

उत्तर कोरिया ऐसी मिसाइलें विकसित कर रहा है जो संसार में कहीं भी मार करने में सक्षम होंगी

नई दिल्ली: उत्तर कोरिया द्वारा बुधवार प्रातः काल दागी गई मिसाइल के जापान सागर में गिरने के बाद अमेरिका ने इस पर तीखी रिएक्शन दी। रक्षा मंत्री जिम मैटिस ने संभावना जताई कि उत्तर कोरिया संभवत: ऐसी मिसाइलें विकसित कर रहा है जो संसार में कहीं भी मार करने में सक्षम होंगी।

मैटिस के अनुसार दो महीने की शांति के बाद प्योंगयांग ने एक (आईसीबीएम) का प्रक्षेपण किया, जिसने उसके द्वारा दागी गई पहले की सभी मिसाइलों से कहीं अधिक ऊंची उड़ान भरी। ICBM बिना किसी को नुकसान पहुंचाए जापान के विशेष आर्थिक एरिया (ईईजेड) में जा गिरी।
जापान के पीएम शिंजो आबे ने बोला कि यह ताजा मिसाइल प्रक्षेपण एक हिंसक कृत्य है जिसे बर्दाशत नहीं किया जा सकता। साथ ही उन्होंने संयुक्त देश सुरक्षा परिषद की मीटिंग तत्काल बुलाने की मांग की। मीडिया विज्ञप्ति के अनुसार अमेरिका व दक्षिण कोरिया ने भी इस पर इसी तरह रिएक्शन दी व उन्होंने भी संयुक्त देश सुरक्षा परिषद का सत्र तत्काल बुलाने की मांग की है। शिंजो आबे ने कहा, ‘हम किसी भी उकसाने वाले कृत्य के आगे नहीं झुकेंगे। हम अपना अधिकतम दबाव बनाएंगे। ’ अमेरिका द्वारा उत्तर कोरिया को आतंकवाद को बढ़ावा देने वाले देशों की सूची में डालने के एक हफ्ते बाद यह उकसावे भरी कार्रवाई की गई है।
व्हाइट हाउस के अनुसार अमेरिका के को उस समय उत्तर कोरिया की स्थिति के बारे में जानकारी दी गई जब मिसाइल हवा में ही थी। उन्होंने स्थिति से निपटने का आश्वासन दिलाया है। ट्रंप ने मीडिया से कहा, ‘‘उत्तर कोरिया की ओर से थोड़ी देर पहले मिसाइल दागी गई है। मैं आपको बताना चाहता हूं कि हम स्थिति पर काबू पा लेंगे। हमने जनरल मैटिस से इस पर लंबी चर्चा की है। हम इस स्थिति से निपट लेंगे। ’ पेंटागन के प्रवक्ता कर्नल रोब मैनींग ने बोला कि अमेरिका के रक्षा विभाग ने पता लगाया कि उत्तर कोरिया की ओर से दोपहर एक बजकर, 17 मिनट (ईडीटी) पर मिसाइल दागी गई।
अमेरिका के रक्षा मंत्री जिम मैटिस ने मीडिया से कहा, ‘आईसीबीएम मिसाइल के द्वारा पहले दागी गई अन्य सभी मिसाइलों से अधिक ऊंची उड़ान भरी। अमेरिका के विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन ने इसकी कड़ी निंदा करते हुए बोला कि उत्तर कोरिया लगातार परमाणु हथियार पाने के कोशिश कर रहा है व उसे ऐसा करने से रोका जाना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘अंतरराष्ट्रीय समुदाय को उत्तर कोरिया को एकजुट होकर एक संदेश देना चाहिए कि डीपीआरके को अपने डब्ल्यूएमडी कार्यक्रमों पर रोक लगानी होगी। सभी राष्ट्रों को मजबूत आर्थिक एवं राजनयिक तरीका करने जारी रखने चाहिए।
इस बीच की एक समाचार के अनुसार अमेरिका के व दक्षिण कोरिया के उनके समकक्ष मून जे-इन ने फोन पर वार्ता की व इस मिसाइल प्रक्षेपण को विश्व के लिए गंभीर खतरा बताया। व्हाइट हाउस के अनुसार, दोनों नेताओं ने गंभीर खतरे को रेखांकित किया कि उत्तरी कोरिया की ओर से की गई उकसावे भरी इस कार्रवाई से न केवल अमेरिका व दक्षिण कोरिया बल्कि पूरी संसार को खतरा है।

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *