पुलिस अफसर मुकेश गुप्ता सस्पेंड

 

रायपुर.

विवादों में घिरे पुलिस अफसर मुकेश गुप्ता निलंबित कर दिए गए हैं. इसके साथ ही नारायणपुर के पुलिस अधीक्षक रजनेश सिंह भी निलंबन की जद में हैं. देर-सबेर उन पर भी कार्रवाई तय है.

पूर्व मुख्यमंत्री डाक्टर रमन सिंह और खुद को पावरफुल नौकरशाह के तौर पर प्रचारित करने वाले अमन सिंह के करीबी समझे जाने वाले मुकेश गुप्ता पर कभी मिक्की मेहता की हत्या का आरोप लगता रहा है तो कभी झीरम घाटी के माओवादी हमले में उनकी भूमिका संदिग्ध मानी गई. पुलिस अधीक्षक विनोद चौबे की मौत के मामले में भी उनकी भूमिका को लेकर सवाल उठ चुके हैं.

इधर एक दिन पहले ईओडब्लू ने उन पर नागरिक आपूर्ति निगम घोटाले की जांच के दौरान आरोपियों और संबंधित दर्जनों लोगों के फोन टेप करने के मामले में धारा 166, 166 ए ( बी ), 167, 193, 194, 196, 201, 218, 466, 467, 471 और 120 बी के तहत मामला दर्ज किया है. उनके साथ-साथ खुद को रमन सिंह के रिश्तेदार के तौर पर प्रचारित करने वाले रजनेश सिंह भी आरोपी बनाए गए हैं. ईओडब्लू ने जिन गंभीर धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है उसके बाद दोनों अफसरों का जेल जाना भी तय माना जा रहा है. दोनों पर नागरिक आपूर्ति घोटाले की जांच के दौरान झूठा साक्ष्य गढ़ने, आपराधिक साजिश रचते हुए रसूखदार लोगों को बचाने और अवैध तरीके से फोन टेप करने का आरोप है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here